Lithosphere General Knowledge Questions and Answers

स्थलमंडल से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तरी !!
स्थलमंडल से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तरी !!

विश्व का भूगोल – स्थलमंडल से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तरी !! World Geography – Lithosphere General Knowledge Questions and Answers

Sthal Mandal GK Questions in Hindi

  • भूपटल और उसके नीचे की मैंटल परत सम्मिलित रूप से क्‍या कहलाती है – स्‍थलमण्‍डल
  • स्‍थलमण्‍डल क्रमश: कितनी बड़ी और छोटी भू-प्‍लेटों में विभक्‍त है – 6 बड़ी, 20 छोटी
  • भू-प्‍लेटों की औसत मोटाई कितने किमी है – 100
  • इन भू-प्‍लेटों पर स्‍थलाकृतियों का निर्माण किनके द्वारा होता है – विवर्तनिकी
  • अंटार्कटिक प्‍लेट का क्षेत्रफल कितना है – 60.9 लाख वर्ग किमी
  • अंटार्कटिक प्‍लेट के अंतर्गत क्‍या शामिल है – अंटार्कटिक से घिरा महासागर
  • उत्‍तरी अमेरिकी प्‍लेट का क्षेत्रफल कितना है – 75.9 लाख वर्ग किमी
  • उत्‍तरी अमेरिकी प्‍लेट के अंतर्गत क्‍या शामिल है – पश्चिमी अंधमहासागरीय तल
  • दक्षिणी अमेरिकी प्‍लेट को पश्चिमी अटलांटिक तल समेत और कौन इसे पृथक करते हैं – उत्‍तरी अमेरिकी प्‍लेट व कैरेबियन द्वीप
  • प्रशांत महासागरीय प्‍लेट का क्षेत्रफल कितना है – 103.3 लाख वर्ग किमी
  • इंडो-ऑस्‍ट्रेलियन-न्‍यूजीलैंड प्‍लेट का क्षेत्रफल कितना है – 47.2 लाख वर्ग किमी
  • अफ्रीकी प्‍लेट का क्षेत्रफल कितना है – 78 लाख वर्ग किमी
  • अफ्रीकी प्‍लेट के अंतर्गत क्‍या शामिल है – पूर्वी अटलांटिक तल
  • यूरेशियाई प्‍लेट का क्षेत्रफल कितना है – 67.8 लाख वर्ग किमी
  • यूरेशियाई प्‍लेट के अंतर्गत क्‍या शामिल है – पूर्वी अटलांटिक महासागरीय तल
  • कोकोस प्‍लेट मध्‍यवर्ती अमेरिका और किस प्‍लेट के बीच स्थित है – प्रशांत महासागरीय प्‍लेट
  • दक्षिण अमेरिका व प्रशांत महासागरीयप्‍लेट के बीच कौन-सी प्‍लेट स्थित है – नजका
  • अरेबियन प्‍लेट में अधिकतर कौन-सा भू-भाग सम्मिलित है – अरब प्रायद्वीप
  • कौन-सी प्‍लेट एशिया महाद्वीप और प्रशांत महासागरीय प्‍लेट के बीच स्थित है – फिलिपीन प्‍लेट
  • कौन-सी प्‍लेट गिनी के उत्‍तर में फिलिपियन व इंडियन प्‍लेट के बीच स्थित है – कैरोलिन प्‍लेट
  • कौन-सी प्‍लेट ऑस्‍ट्रेलिया के उत्‍तर-पूर्व में स्थित है – फ्यूजी प्‍लेट
  • कौन-सी सबसे छोटी प्‍लेट जो प्रशांत प्‍लेट के उत्‍तर-पश्चिम में स्थित है – जुआन डी फुका प्‍लेट
  • अपसरण क्षेत्र की कौन-सी विशेषता है – सक्रिय ज्‍वालामुखी का उद्भव
  • किन सीमाओं पर ज्‍वालामुखी का उद्भव, गहरी सागरीय खाई, द्रोणियाँ वलित पर्वतों की रचना होती है – अभिसरण क्षेत्र
  • प्‍लेटें एक-दूसरे के विपरीत दिशा में साथ-साथ कहाँ खिसकती है – रूपांतर भ्रंश
  • किस कटक की प्रवाह दर सबसे कम (5 सेमी प्रति वर्ष से भी कम) है – आर्कटिक
  • किस प्‍लेट में प्रायद्वीपीय भारत और ऑस्‍ट्रेलिया महाद्वीपीय भाग सम्मिलित है – भारतीय प्‍लेट
  • भारतीय प्‍लेट के एशियाई प्‍लेट की तरफ प्रवाह के दौरान लावा प्रवाह से किसका निर्माण हुआ – दक्‍कन ट्रैप
  • वह (दक्‍कन ट्रैप) घटना कितने वर्ष पूर्व आरंभ हुई – लगभग 6 करोड़
  • क्रिटैशियस युग में मुख्‍यतया कौन-से दो स्‍थल भाग थे – लॉरेशिया तथा गोंडवानालैंड
  • टेलर ने स्‍थल प्रवाह का मुख्‍य कारण किसे बताया है – ज्‍वारीय बल
  • वेगनर ने इस स्‍थल पिंड का नामकरण क्‍या किया है – पैंजिया
  • वेगनर ने इसके चारों ओर विशाल जल भाग को क्‍या नाम दिया है – पैंथालासा
  • ‘भौगोलिक चक्र समय की वह अवधि है जिसके अंतर्गत उत्थित भूखंड अपरदन के प्रक्रम द्वारा प्रभावित होकर एक आकृतिविहीन समतल मैदान में बदल जाता है।” किसने कहा था – विलियम्‍स मोरिस डेविस
  • ”स्‍थल रूप संरचना, प्रक्रम तथा समय का प्रतिफल होता है”, किसने कहा – डेविस
  • संरचना, प्रक्रम तथा समय को किस नाम से जाना जाता है – डेविस के त्रिकूट
  • डेविस की भौगोलिक चक्र संकल्‍पना को जर्मनी के किस विद्वान ने अस्‍वीकार किया – वाल्‍टर पेंक
  • पेंक ने स्‍थलरूपों के विकास के नए मॉडल का प्रतिपादन किया नाम से किया – Morphological System
  • ”स्‍थलरूप संचरना, प्रक्रम तथा अवस्‍था का प्रतिफल न होकर उत्‍थान की दर तथा अपरदन की दर के बीच अनुपात का प्रतिफल है।” किसने कहा है – वाल्‍टर पेंक
  • स्‍थल स्‍वरूप की संकल्पना पेडीप्‍लनेशन चक्र के रूप में किसने की – एल.सी.किंग
  • परिहिमानी अपरदन-चक्र की संकल्‍पना किसने दी थी – पेल्टियर
  • गतिक संतुलन सिद्धांत की संकल्‍पना किसने दी थी – स्‍ट्रालर, हैक एवं चोर्ले
  • कार्स्‍ट अपरदन चक्र की संकल्‍पना किसने की – वीदी
  • अपरदन का सामान्‍य अभिकर्ता कौन है – प्रवाहित जल
  • नदी अपरदन चक्र की युवावस्‍था की प्रमुख घटना कौन-सी है – सरिता अपहरण (Stream piracy)
  • किस अवस्‍था में प्रवेश करते ही नदी के द्वारा निक्षेप कार्य अधिक होने लगता है – प्रौढ़ावस्‍था
  • नदी की किस अवस्‍था में यत्र-तत्र चापाकार झीलें दृष्टिगोचर होती है – वृद्धावस्‍था
  • आकार के अनुसार V-आकार की घाटियों के कितने वर्ग हैं – गार्ज तथा कैनियन
  • बीहर नदी पर कौन-सा प्रसिद्ध गार्ज है  चचाई
  • महाना नदी पर कौन-सा प्रसिद्ध गार्ज है  केवटी
  • टोंस नदी पर कौन-सा प्रसिद्ध गार्ज है  पुरवा
  • नर्मदा नदी पर कौन-सा प्रसिद्ध गार्ज है  भेड़ाघाट संगमरमरी
  • गार्ज के विस्‍तृत रूप को क्‍या कहते हैं – कैनियन या कंदरा
  • विश्‍व प्रसिद्ध कोलोरेडो नदी का ग्रांड कैनियन कहाँ स्थित है – सं. रा. अमेरिका
  • नदी के नवोन्‍मेष या पुनर्युवन की परिचारिका कौन कहलाती है – नदी वेदिकाएँ
  • नदी वेदिकाओं के विभाजित रूप कौन-से हैं – जलोढ़ वेदिका, स्‍ट्राथ वेदिका
  • एक नदी विसर्प की लंबाई, नदी की चौड़ाई से कितने गुना अधिक होती है – 15 से 18 गुना
  • जब नदियाँ अपने विसर्प को छोड़कर सीधे प्रवाहित होने लगती हैं तब नदियों का विसर्प अवशिष्‍ट भाग क्‍या कहलाता है – छाड़न या गोखुर झील
  • क्षैतिज अपरदन तथा निक्षेप दोनों मिलकर किसका निर्माण करते हैं – सम्‍प्राय मैदान
  • नदी के जिस भाग में जलधारा का प्रवाह साधारण वेग से अधिक होता है, तो उसे क्‍या कहते हैं – क्षिप्रिका
  • नदी की प्रौढ़ावस्‍था में प्रवेश करने के सूचक कौन होते हैं – जलोढ़ शंकु
  • जलोढ़ पंख एवं जलोढ़ शंकु में मुख्‍य अंतरक्‍या है – आकार का
  • गुम्फित नदी किस धारा का स्‍वरूप है – पंख के शीर्ष की धारा
  • संयुक्‍त जलोढ़ पंख के परस्‍पर मिलने से किस विस्‍तृत मैदान की रचना होती है – गिरिपदीय जलाढ़ मैदान
  • प्राकृतिक तटबंध की सामान्‍यत: कितनी ऊँचाई होती है – 10 मीटर
  • नदी के अंतिम भाग का वह समतल मैदान कौन-सा है, जिसका ढाल सागर की ओर होता है – डेल्‍टा
  • सर्वप्रथम डेल्‍टा शब्‍द का प्रयोग नील नदी के मुहाने पर हुए निक्षेपात्‍मक स्‍थ्‍ालरूप के लिए किसने किया था – हेरोडोटस
  • नदी की मुख्‍य धारा के द्वारा पदार्थों का निक्षेप दोनों किनारों की अपेक्षा बीच में अधिक होने पर किसका निर्माण होता है – चापाकार डेल्‍टा
  • चापाकार डेल्‍टा का आकार वृत्‍त के चाप या धनुष के समान होने पर इसे क्‍या कहा जाता है – धन्‍वाकार डेल्‍टा
  • पंजाकार डेल्‍टा का सर्वोत्‍तम उदाहरण कौन-सा है – मिसीसिपी नदी का डेल्‍टा
  • नदियों की एस्‍चुअरी के भर जाने से निर्मित लंबे तथा सँकरे डेल्‍टा को क्‍या कहते है – ज्‍वारनदमुख
  • ह्वांगहो नदी किस तरह के कई डेल्‍टा का निर्माण कर चुकी है – परित्‍यक्‍त डेल्‍टा
  • जब नदी द्वारा निर्मित डेल्‍टा का सागर की ओर निरंतर विस्‍तार होता है, तो उसे क्‍या कहते हैं – प्रगतिशील डेल्‍टा
  • गंगा का डेल्‍टा तथा मिसीसिपी का डेल्‍टा किस प्रकार के हैं – प्रगतिशील डेल्‍टा
  • जब डेल्‍टा का विस्‍तार रूक जाता है, तो उसे क्‍या कहते हैं – अवरोधित
  • किसके अनुसार ‘हिमानी’ किम की एक ऐसी राशि है जो धरातल पर संचय के स्‍थान से धीरे-धीरे खिसकती है – वारसेस्‍टर
  • उच्‍च पर्वत तथा उच्‍च अक्षांश किसका कार्यक्षेत्र होते हैं – हिमानी
  • जल गर्तिका का निर्माण किसके द्वारा किया जाता है – हिमानी द्वारा
  • हिमक्षेत्र की निचली सीमा को क्‍या कहते हैं – हिमरेखा (Snowline)
  • भूमध्‍य रेखा एवं एंडीज पर हिमरेखा कितनी ऊँचाई पर पाई जाती है – 5500 मीटर
  • हिमचादर का लघुरूप किसे माना जाता है – हिमटोपी
  • विस्‍तृत हिमचादर को क्‍या कहते हैं – महाद्वीपीय हिमानी
  • वर्तमान समय में व्‍यापक महाद्वीपीय हिमानियाँ कौन-सी है – ग्रीनलैंड तथा अंटार्कटिका
  • आल्‍पस में हिमानियों का विशेष अध्‍ययन होने के कारण इन्‍हें क्‍या कहा गया है – अल्‍पाइन
  • अलास्‍का की गिरिपदीय हिमानी का क्‍या नाम है – मेलास्पिना
  • पश्चि‍मी ग्रीनलैंड में कौन-सी गिरीपदीय हिमानी है – फ्रेडरिक शाब
  • अंटार्कटिका में कौन-सी गिरिपदीय हिमानी है – वटरपाइंट
  • इंग्‍लैंड में यू आकार की कौनसी घाटी है – रेडियल घाटी
  • कैलीफोर्निया में यू आकार की कौनसी घाटी है – योसेमाइट
  • स्विट्जरलैंड में यू आकार की कौनसी घाटी है – लॉटरब्रुनेन
  • जर्मनी में हिम गह्वर को क्‍या कहते हैं – कार
  • वेल्‍स में हिम गह्वर को क्‍या कहते हैं – क्रम
  • स्‍कॉटलैंड में हिम गह्वर को क्‍या कहते हैं – कौरी
  • नार्वे में हिम गह्वर को क्‍या कहते हैं – बोटन
  • सर्क रूपी बेसिनमें जल भरने पर एक लघु झील का निर्माण होता है, इसे क्‍या कहते हैं – टार्न
  • स्विटजरलैंड में आल्‍पस पर्वत की मैटर हार्न नामक नुकीली शिखर का क्‍या नाम पड़ा – गिरिश्रृंग
  • गिरिश्रृंग किस आकार की होती है – पिरामिडीय
  • अरेत या तीक्ष्‍ण कंटक को अमेरिका में क्‍या कहते हैं – कंकट कटक
  • पहाड़ी के दोनों ओर विकसित सर्क परस्‍पर मिलने पर मध्‍य की दीवार टूटने पर टीलों के आर-पार खुले भाग को क्‍या कहते हैं – कॉल/हिमनी दर्रा
  • नुनाटक को अन्‍य क्‍या नाम दिया गया है – हिमांतर द्वीप
  • हिमानी के प्रवाह मार्ग में स्थित ज्‍वालामुखी प्‍लेट, बेसाल्‍ट या अन्‍य कोई शिला के सम्‍मुख ढाल पर हिम की घर्षण क्रिया से बने ऊबड़-खाबड़ ढाल को क्‍या कहते हैं – श्रृंग
  • विमुख ढाल पर हिम सरलता से उतर जाता है, यहाँ उत्‍पन्‍न मंद व सम ढाल क्‍या कहलाता है – पुच्‍छ
  • सर्वप्रथम 1804 में मेष शिला या भेड़ पीठिका नामकरण किसने किया – डी. सॉसर
  • हिमपात्र एवं सोपान को क्‍या कहते हैं – दैत्‍याकार सोपान
  • सोपानों की तरह श्रृंखला में पायी जाने वाली झील को क्‍या कहते हैं – पेटरनॉस्‍टर झील
  • निमग्‍न हिमानीकृत घाटियाँ क्‍या है – फियोर्ड
  • पार्श्विक हिमोढ़ कितने ऊँचे होते हैं – 10 मीटर
  • प्रतिसारी हिमोढ़ किसे कहते हैं – अंतिम हिमोढ़
  • हिमनदी द्वारा निर्मित गोलाश्‍म मृत्तिका की एक लंबी, चिकनी और अंडाकार पहाड़ी को क्‍या कहते हैं – ड्रमलिन
  • पिघलते हुए हिमनद के जल द्वारा निक्षेपित बालू और बजरी के रूक्ष स्‍तरीय अनियमित शंक्‍वाकार टीलों को क्‍या कहते हैं – केम
  • एस्‍कर के मध्‍य में उभरे कठोर शैलों के टीले से बनी आकृति के कारण इसे क्‍या कहते हैं – मणिकामय एस्‍कर
  • केम के विपरीत कौन-से गर्त होते हैं – केटिल
  • केटिल की रचना किस प्रकार होती है – बड़े हिमखंडों के पिघलने से
  • हिमानी धौत को अन्‍य किस नाम से जानते हैं – अवक्षेप मैदान
  • किस पूर्ववत् घाटी में हिमानी अपक्षय द्वारा चराव होने से उत्‍पन्‍न विशिष्‍ट आकृति को क्‍या कहते हैं – वैली ट्रेन
  • पवन के अपघर्षण कार्य द्वारा किसका निर्माण होता है – यारडांग
  • पवन खिड़की को अन्‍य क्‍या कहा जाता है – पवन वातायन
  • तीन फलक वाले बोल्‍डर को क्‍या कहते हैं – ड्राइकांटर
  • आठ अपघर्षित फलक वाले बोल्‍डर को क्‍या कहते हैं – वेंटीफैक्‍टर
  • जालीदार शैल को अन्‍य किस नाम से जानते हैं – अहिश्‍मक जालक
  • छत्रक शिला को सहारा के रेगिस्‍तान में क्‍या कहा जाता है – गारा
  • जर्मनी में छत्रक शिला को किस नाम से संबोधित करते हैं – पिट्जफेल्‍सन
  • छत्रक शिला को अन्‍य किस नाम से संबोधित करते हैं – पेडस्‍ट शैल
  • वातगर्त का आकार कैसा होता है – तश्‍तरीनुमा
  • किन मरूस्‍थलों में ऐसी आकृतियाँ बनती है – सहारा, कालाहारी, गोबी
  • इंसेलबर्ग क्‍या कहलाते हैं – दीपाभगिरि
  • दीपाभगिरि की आकृति किस प्रकार की होती है – पिरामिडीय
  • मरूस्‍थलीय क्षेत्र में प्रतिरोधी एवं कठोर शैलों के सपाट मेजनुमा स्‍तरित शैलपिंड क्‍या है – ज्‍यूजेन
  • बालुका स्‍तूप के समूह को अन्‍य क्‍या नाम दिया गया है – स्‍तूप श्रृंखला
  • अवरोधक शिला के कुछ पूर्व जब रेत का ढेर एकत्रित हो जाता है, तो क्‍या कहलाता है – प्रगति स्‍तूप
  • अनुप्रस्‍थ स्‍तूप का कौन-सा रूप है – बरखान
  • बरखान किस आकार के होते हैं – अर्द्धचंद्राकार या चापाकार
  • पवन द्वारा उड़ाए गए धूल-कणों के निक्षेप से किसका निर्माण होता है – लोयस
  • इनका नामकरण फ्रांस के अलसेस प्रांत में किस गाँव में निर्मित आकृति के आधार पर हुआ है – लोयस
  • पवन के बहने से मरूस्‍थल की रेतीली सतह पर सागरीय तरंगों की भाँति लहरदार बने चिन्‍ह क्‍या कहलाते हैं – उर्मिकाएँ
  • बालुका कगार की नाप कितनी होती है – 150 फीट ऊँची, 2 मील चौड़ी,  10 मील लंबी
  • बालुका आवरण के रूप में लीबिया की सेलिमा शीट कितनी विस्‍तृत है – 30 वर्ग मील
  • उत्‍तरी अमेरिका में ब्राइस नेशनल पार्क किसका उदाहरण है – उत्‍खात भूमि
  • पर्वतों से घिरे हुए मरूस्‍थलीय बेसिन को सं.रा. अमेरिका तथा मैक्सिको में क्‍या कहते हैं – बोल्सको
  • प्‍लाया में चमकीले नमक के निक्षेप होने पर उन्‍हें क्‍या कहते हैं – अल्‍कली फ्लैट
  • अधिक नमक वाले निक्षेप क्‍या कहलाते हैं – सैलीना या लवणकच्‍छ
  • पेडिमेंट की रचना किसके द्वारा होती है – अपक्षय व नदीय अपरदन
  • अपरदन से निर्मित होने के कारण पेडिमेंट की सतह कैसी होती है – विषम
  • कौन-से मंद ढालयुक्‍त मैदान, प्‍लाया तथा पेडिमेंट के मध्‍य स्थित होते हैं – बजादा
  • तरंगों द्वारा अपरदन के कारण तट रेखा के सहारे किसका निर्माण होता है – क्लिफ
  • तटीय भागों में कोमल तलछटी तथा लंबवत् स्‍तरों वाली शैलों पर किसका निर्माण होता है – सागरीय भृगु
  • लघु निवेशिका की आकृति कैसी होती है – अंडाकार
  • कंदरा की छत का कुछ भाग टूट जाने पर बनी सँकरी छोटी खाड़ी क्‍या कहलाती है – जिओ
  • समुद्र के भीतर प्रविष्‍ट शैल के आर-पार छिद्र होने पर बने विशाल द्वार को क्‍या कहते हैं – मेहराब
  • मेहराब की छत टूट जाने पर दीवार स्‍तंभ के रूप में रह जाती है, उसे क्‍या कहते हैं – स्‍कैरी / स्‍टेक
  • तट पर तरंगों के टकराव के कारण लटकती हुई या सागरीय भृगु के सामने जल के भीतर बना चबूतरा क्‍या कहलाता है – वेदिका / तरंग घर्षित मैदान
  • सागरीय तट के सहारे मलबे के निक्षेप से बने स्‍थल के रूप को क्‍या कहते हैं – पुलिन
  • उच्‍च तथा निम्‍न ज्‍वारतल के बीच वाले स्‍थानों में किसका निर्माण होता है – पुलिन
  • तरंगों तथा धाराओं निर्मित कटक या बाँध को क्‍या कहा जाता है – रोधिका
  • शुष्‍क उष्‍णकटिबंधीय भागों के तटीय भागों में सपाट निक्षेप जनित तटों को क्‍या कहते हैं – सबखा
  • सबखा को अन्‍य किस नाम से जानते हैं – साल्‍ट फ्लैट
  • तटीय तरभाग का निर्माण कहाँ होता है – स्पिट या रोधिका के पीछे
  • तरभाग की प्रमुख विशेषता कहाँ पर है – मैंग्रोव वन
  • किसी द्वीप के चारों तरफ स्पिट का विकास होने पर क्‍या कहलाता है – लूपरोधिका
  • सागरीय मलबे का निक्षेप रोधिका के रूप में जल की ओर निकला होने पर क्‍या कहलाता है – स्पिट या यूजिह्वा
  • ओडि़शा तट पर चिल्‍का झील के मुख में कितनी लंबी स्पिट का विकास हुआ है – 50 किमी
  • पुलिकट झील के पूर्व में कितनी लंबी स्पिट का विकास हुआ है – 60 किमी
  • अत्‍यधिक प्रसिद्ध स्पिट कौन-सी है – रामेश्‍वर स्पिट
  • संयोजक रोधिका को अन्‍य किस नाम से जानते हैं – टोम्‍बोलो
  • दो संलग्‍न रोधिकाओं के परस्‍पर मिल जाने पर किसका निर्माण होता है – उभयाग्र रोधिका
  • उभयाग्र रोधिका अन्‍य किस नाम से जानी जाती है – डंगनेस
  • महाद्वीपीय क्लिफ से सागर की ओर का शुष्‍क स्‍थलीय भाग क्‍या कहलाता है – तट
  • तट से आगे महाद्वीपीय मग्‍न ढाल का जो भाग जलमग्‍न रहता है, क्‍या कहलाता है – किनारा
  • ज्‍वार के समय यह किनारा क्‍या कहलाता है – उच्‍च किनारा
  • भाटा के समय यह किनारा क्‍या कहलाता है – निम्‍न किनारा
  • जॉनसन ने समुद्री किनारों की संख्‍या कितनी बताई – 4
  • सागर तट पर नदी घाटियों के जलमग्‍न होने से क्‍या बनते हैं – ज्‍वारनदमुख
  • हिमानियों द्वारा निर्मित घाटियों के जलमग्‍न होने पर कौन-से तट बनते हैं – फियोर्ड
  • डाल्‍मेशियन तट कहाँ से तट से विख्‍यात हुए – यूगोस्‍लाविया
  • पूर्वी एशिया तट एवं फ्रांस का गरोन (सोमरसेटशायर) तट किसके उदाहरण हैं – हैफ तट
  • हिम युग के दौरान जल की कमी अथवा पटलविरूपण द्वारा किनारे की भूमि के उन्‍मज्‍ज में कौन-से किनारे उत्‍पन्‍न होते हैं – उन्‍मग्‍न समुद्री किनारा
  • जलमग्‍न तट या उन्‍मग्‍नता से प्रभावित क्षेत्रों में कौन-से तट स्थित होते हैं – तटस्‍थ समुद्री किनारा
  • पृथ्‍वी की सतह से नीचे भूपृष्‍ठीय चट्टानों के छिद्रों तथा दरारों में स्थित जल को क्‍या कहते हैं – भूमिगत जल
  • भूमिगत जल को अन्‍य किस नाम से जानते हैं – अध:तल जल
  • कार्स्‍ट शब्‍द की उत्‍पत्ति यूगोस्‍लाव भाषा के किस शब्‍द से हुई है – क्रास (Croas)
  • क्रास का अर्थ किससे है – चूनें के प्रदेश
  • चूने के प्रदेश कहाँ पर स्थित है – एड्रियाटिक तट पर
  • एड्रियार्टिक चूने के प्रदेश की लंबाई और चौड़ाई कितनी है – 480 किमी लंबा, 80 किमी चौड़ा
  • लैपीज किस भाषा का शब्‍द है – फ्रांसीसी
  • लैपीज को जर्मन भाषा में क्‍या कहते हैं – कारेन
  • लैपीज को अंग्रेजी भाषा में क्‍या कहते हैं – स्‍लीण्‍ट तथा ग्राइक
  • लैपीज को संर्बिया भाषा में क्‍या कहते हैं – बोगाज
  • घोलरंध्र बड़े आकार के होने पर क्‍या कहलाते हैं – डोलाइन
  • कार्स्‍ट झील का उदाहरण कौन सा है – एलागुआ झील (फ्लोरिडा)
  • उथला और विस्‍तृत बेसिन क्‍या कहलाता है – घोल पटल
  • डोलाइन की ऊपरी छत के ध्‍वस्‍त हो जाने से क्‍या बनते हैं – युवाला
  • भूमिगत जल की घुलन क्रिया एवं अपघर्षण द्वारा क्‍या बनती है – कंदरा या गुफा
  • चूनापत्‍थर से निर्मित कंदराओं में सभी प्रकार के निक्षेपों को सम्मिलित रूप से क्‍या कहा जाता है – स्‍पीलिथोथेम
  • स्‍पीलिथोथेम का प्रमुख संघटक क्‍या है – कैल्‍साइट
  • कन्‍दरा की छत पर पदार्थ का निक्षेप स्‍तंभ के रूप में नीचे की ओर विकसित होने पर क्‍या कहलाता है – स्‍टैलेक्‍टाइट
  • स्‍टैलेक्‍टाइट को अन्‍य किस नाम से जानते हैं – आकाशी स्‍तंभ
  • फर्श पर स्‍तंभ की आकृति बनकर ऊपर की ओर विकसित होने पर क्‍या कहलाती है – स्‍टैलेग्‍माइट
  • स्‍टैलेक्‍टाइट एवं स्‍टैलेग्‍माइट एक-दूसरे की ओर बढ़ते हुए जिस स्‍तंभ की रचना करते हैं, वह कहलाता है – गुहा-स्‍तंभ
  • स्‍तंभ का निर्माण आर्द्रता युक्‍त सतह पर किसी भी दिशा में होता है, तो उसे क्‍या कहते हैं – हेलिक्‍टाइट
  • ठोस कण के चारों ओर पदार्थ एकत्रित होकर कैलिसयम कार्बोनेट का निक्षेप करते हैं, इसे क्‍या कहते हैं – संग्रथन
  • जब शैल संधियों में खनिजों का निक्षेप होता है तथा गौण आकृतियाँ बनती हैं, तो इन्‍हें क्‍या कहते हैं – शिराएँ
  • पवन, बहते जल या हिमनद द्वारा घर्षण में अपरदन क्रिया हेतु क्‍या शब्‍द है – अपघर्षण
  • एक अनाच्‍छादन प्रक्रिया जिसमें धरातल से शैलों की परतें उखड़ती हैं, इसके लिए क्‍या शब्‍द है – अपदलन
  • भूतल पर स्थित वह बिंदु क्‍या कहलाता है जो भूकंप केंद्र के ठीक ऊपर हो – अधिकेंद्र
  • नदी के पुनर्युवन के कारण पूर्व नदी विसर्प में निम्‍न अपरदन द्वारा बना गहरा एवं संकरा विसर्प क्‍या कहलाता है – अध:कर्तित विसर्प

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here