दक्षिण-पूर्व का पठारी भाग – राजस्थान सामान्य ज्ञान

राजस्थान सामान्य ज्ञान – दक्षिण-पूर्व का पठारी भाग
 दक्षिण-पूर्व का पठारी भाग

राज्य के कुल क्षेत्रफल का 9.6 प्रतिशत है। इस क्षेत्र में राज्य की 11 प्रतिशत जनसंख्या निवास करती है। राजस्थान के इस क्षेत्र में राज्य के चार जिले कोटा, बूंदी, बारां, झालावाड़ सम्मिलित है।इस पठारी भग की प्रमुख नदी चम्बल नदी है.. और इसकी सहायक नदियां पार्वती, कालीसिंध, परवन, निवाज, इत्यादि भी है। इस पठारी भाग की नदियाँ है। इस क्षेत्र में वर्षा का औसत 80 से 100 से.मी. वार्षिक है। राजस्थान का झालावाड़ जिला राज्य का सर्वाधिक वर्षा प्राप्त करने वाला जिला है.. और यह राज्य का एकमात्र अति आर्द्र जिला है। इस क्षेत्र में मध्यम काली मिट्टी की अधिकता है। जो कपास, मूंगफली के लिए अत्यन्त उपयोगी है। यह पठारी भाग अरावली और विन्ध्याचल पर्वत के बीच “सँक्रान्ति प्रदेश” ( Transitional इमसज) है।
दक्षिणी-पूर्वी पठारी भाग को दो भागों में बांटा गया है।
हाडौती का पठार – कोटा, बूंदी, बारां, झालावाड़
विन्ध्यन कगार भूमि – धौलपुर. करौली, सवाईमाधोपुर

यह भी पढ़ें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here